Skip to main content

Internet surfing Tips



Almost all of us have experienced that we are browsing the internet and a website have stated to work in an unpredictable manner like opening more browser instances and keep on opening new ones.
Some times this happens by the unethical techniques of marketing that are being applied to the websites. Also some times the author of the site does not even know but the websites gets hacked and then hackers or you can call them bad guys put hidden text on the sites or they can put iframes. This is can be very annoying and a night mare for simple people who don’t know about the complexities and they even don’t know the way to get rid of this malware or virus or some other bad pieces of code which have been injected to their site.
If the website is big then bad guy got a lottery because it will be difficult for the site owner to check every page and look individually at each page to find out the virus or malware infections in the code. These injections are usually made in such a way that even most intelligent anti-virus software are unable to
remove it or even detect it. So here are out suggestions which you must act upon in order to make sure that you dont get infected from a site. Try not to visit the site which is infected because it can bring virus to your computer and can compensate your security and you could end up losing your data

Here are the tips and tricks

1. Purchase the best available antivirus software from the market . Dont even think of saving few bucks as this can cost you hundred of dollars later on.

2. Make sure to update your antivirus definitions at all times. This is because new things keeps on pooping up and creative people try new methods to hack into your PC and anti virus companies keep an eye on that and will launch new patches.

3. Always purchase a genuine copies of operating system. This is not only ethical but also you can download update of your software and patches too. Operating system vendors will also keep on launching new patches as the new ways to hack into their systems are being developed.

4. Keep your web browser up to date.

5. Keep an eye on your email. Never open any file enclosed which comes from a non trustworthy source. This can be very painful because if you open that file you are gone. If
that file is an executable file than it can start a process on your computer which can do any thing to it.

6. Keep on cleaning you cache and clearing your cookies after every couple of weeks however if you have a good antivirus it will do it automaticall for you.

7. Keep anitivirus setting so that it at least checks you computer once a week for possible virus infections in your system.

8. Also it is important that you keep your home of office network safe and dont leave your router without password. A hacker can then take control of your network and can infect the systems that are connected to this router.

9. When ever you download new files from internet or from other source scan it first before you use the files.

10. Dont give your credit card and other information on sites which are not trustworthy. Also specially check that the site is using ssl (Secure protocol) if you are giving your credit card info specially.

11. Try to shop only from well reputed merchants . It will eliminate chance of credit card fraud.

12. Also try not to put sensitive information on your computer. Sensitive information like credit card numbers, personal photos etc which you dont wont to share with people. This will make sure that you sensitive info will be saved in case your computer or laptop PC is hacked.
If you follow these practices then you are most likely to be safe.

Comments

Popular posts from this blog

क्या है ‘उद्योग आधार’ नंबर, छोटे कारोबारियों के लिए कैसे है फायदेमंद

सरकार ने कम पूंजी में अपना कारोबार
शुरू करने वालों के लिए रजिस्ट्रेशन कराना आसान
बना दिया है। इसके लिए सरकार ने उद्योग आधार
की शुरुआत की है। दरअसल यह सुविधा छोटे और
मध्यम दर्जे के कारोबारियों को मिलेगी। जिससे
कारोबारियों को रजिस्ट्रेशन कराने से लेकर के
प्रोडक्शन करने तक 11 जरूरी फॉर्म भरने के झंझट से
छुटकारा मिल जाएगी। क्योंकि माइक्रो, स्मॉल
एंड मीडियम इंटरप्राइजेज (एमएसएमई) मंत्रालय छोटे
और मझोले कारोबारियों को यह सुविधा मुफ्त में
मुहैया करा रही है। एमएसएमई मंत्रालय को उम्मीद है
कि ‘उद्योग आधार’ नंबर की शुरुआत ईज ऑफ डुइंग
बिजनेस के लिए एक बेहतर टूल साबित होगा। इसके
जरिए रजिस्ट्रेशन कराने के बाद कारोबारी सरकार
की योजनाओं का बेहतर लाभ उठा पाएंगे।
क्या है ‘उद्योग आधार ’ नंबर
छोटे और मध्यम दर्जे के कारोबारियों को नया
कारोबार शुरू करने के लिए ऑनलाइन अथवा
ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन कराने की जो सुविधा दी गई
है उसे ‘उद्योग आधार’ नाम दिया गया है। ताकि,
एमएसएमई के लिए कारोबार करना न केवल आसान
हो, बल्कि वे अपना करोबार को बढ़ाना भी चाहें
तो सरकार की ओर से उन्हें हरसंभव सहायता उपलब्ध
कराई जा सके। इसके तह…

जानिए, क्या है मोबाइल वॉलेट, इससे ट्रांजेक्शन कैसे है आसान...

भारत में जिस तरह ऑनलाइन शॉपिंग
का क्रेज बढ़ रहा है उसी तरह मोबाइल वॉलेट का
भी इस्तेमाल लगातार बढ़ रहा है। क्योंकि, इसके
जरिए ऑनलाइन शॉपिंग करते वक्त ग्राहकों को पेमेंट
करने में सुविधा होती है। इसकी वजह से परचेजिंग
करने वालों को खुले पैसे देने के झंझटों से छुटकारा
मिलता है। वहीं, मोबाइल वॉलेट के जरिए आप पैसा
किसी को देश के किसी भी हिस्से में भेज सकते हैं।
क्योंकि, इसके लिए आपको बैंक जाने की जरूरत नहीं
होती है। इसके अलावा इसकी वजह से कैश कैरी करने
की जरूरत नहीं पड़ती है।
आरबीआई के द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक
साल 2013-14 में कुल एक हजार करोड़ रुपए का लेनदेन
किया गया। लेकिन अगले 2 साल के भीतर यह
आकंड़ा आठ गुणा हो गया। साल 2014-15 में
मोबाइल वॉलेट के जरिए करीब 8,200 करोड़ रुपए का
लेनदेन किया गया।
क्या होता है मोबाइल वॉलेट
मोबाइल वॉलेट स्मार्ट फोन पर उपलब्ध एक डिजिटल
वॉलेट की सुविधा है। जहां रुपए को डिजिटल मनी
के रूप में स्टोर किया जाता है। खरीददारी के
दौरान इस वॉलेट के जरिए पेमेंट किया जाता है।
सामान्य शब्दों हम कह सकते हैं कि मोबाइल वॉलेट
एक डिजिटल पर्स की तरह है जिसके जरिए पैसे की
ले…

जानिए, क्या है WTO और इंटरनेशनल ट्रेड में इसकी भूमिका....

केन्या की राजधानी नैरोबी में वर्ल्ड
ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूटीओ) की 10वीं
मिनिस्टीरियल बैठक में हुई प्रगति को लेकर भारत
संतुष्ट नहीं है। क्योंकि स्टॉकहोल्डिंग, फूड
सब्सिडी जैसे विवादस्पद मुद्दों पर भी कोई प्रगति
संभव नहीं हुई। दोहा डेवलपमेंट एजेंडे (डीडीए) के
भविष्य को लेकर भी अनिश्चितता कायम है।
विकसित और विकासशील देशों के बीच इस तकरार
से एक बार फिर डब्ल्यूटीओ की भूमिका पर चर्चा
गरम हो गई है। आइए हम आपको डब्ल्यूटीओ के कार्य
और उद्देश्य के बारे में विस्तार से बताते हैं।
क्या है डब्ल्यूटीओ
वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन ( डब्ल्यूटीओ) ट्रेड के मामले में
विश्व की प्रमुख संस्था है, जो सदस्य देशों के बीच
होने वाले व्यापार के नॉर्म्स तय करता है। नए
व्यापार समझौतों को लागू करने के साथ ही लिए
भी डब्ल्यूटीओ उत्तरदायी है। भारत भी डब्ल्यूटीओ
का एक सदस्य देश है।

डब्ल्यूटीओ की स्थापना
वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन की स्थापना 15
अप्रैल, 1994 को जनरल एग्रीमेंट ऑन टेरिफ एंड
ट्रेड (गेट) के स्थान पर की गई थी। गेट
की स्थापना साल 1948 में तब हुई
थी, जब 23 देशों ने कस्टम टैरिफ कम करने के लिए
हस्ताक्षर किए थे। …

Support us

Total Pageviews

CONTACT

Name

Email *

Message *